Ravindra Jadeja became the most successful bowler for India in Asia Cup history[एशिया कप इतिहास में भारत के लिए सबसे सफल गेंदबाज बने रवींद्र जड़ेजा]

Share on

भारतीय बाएं हाथ के स्पिनर ने 18 पारियों में 24 विकेट लिए हैं और इरफान पठान के 12 पारियों में 22 विकेट को पीछे छोड़ दिया है।
download

Ravindra Jadeja became the most successful bowler for India in Asia Cup history:अपने शानदार करियर के लिए मशहूर भारतीय स्पिनर रवींद्र जडेजा ने अपने क्रिकेट सफर में एक और उपलब्धि हासिल कर ली है। आर. प्रेमदासा स्टेडियम में श्रीलंका के खिलाफ सुपर फोर चरण के मैच के दौरान, एशिया कप के एकदिवसीय प्रारूप में एशिया कप के एकदिवसीय प्रारूप में भारत के लिए सबसे अधिक विकेट लेने वाले खिलाड़ी इरफान पठान को पछाड़कर जडेजा बन गए। यह उपलब्धि जडेजा के असाधारण कौशल और क्रिकेट मैदान पर लगातार प्रदर्शन का प्रमाण है।

इस महत्वपूर्ण मैच में, जडेजा ने केवल 33 रन देकर दो विकेट लेकर अपनी गेंदबाजी का प्रदर्शन किया। इस प्रदर्शन के साथ, उन्होंने अब 18 पारियों में 24 विकेट हासिल कर लिए हैं, और इरफ़ान पठान के केवल 12 पारियों में 22 विकेट के रिकॉर्ड को पीछे छोड़ दिया है।

गौर करने वाली बात यह है कि जडेजा न केवल भारत के लिए शीर्ष पर हैं बल्कि एशिया कप के इतिहास में पांचवें सबसे ज्यादा विकेट लेने वाले गेंदबाज के रूप में भी शुमार हैं। महान मुथैया मुरलीधरन 24 पारियों में 30 विकेट लेकर इस चार्ट में सबसे आगे हैं।

इसी मैच में, भारत के गेंदबाजी आक्रमण, स्पिनरों और तेज गेंदबाजों के मिश्रण ने संयुक्त रूप से वनडे में श्रीलंका की 13 मैचों की अजेय श्रृंखला को समाप्त कर दिया। इस जीत ने भारत को एक गेम शेष रहते हुए एशिया कप 2023 के फाइनल में जगह दिला दी। आर प्रेमदासा स्टेडियम में मामूली लक्ष्य का पीछा करते हुए श्रीलंका की टीम महज 172 रन पर आउट हो गई।

जहां दोनों पक्षों के स्पिनरों ने खेल में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई, वहीं तेज गेंदबाजों ने भी सह-मेजबानों पर भारत की 41 रनों की जीत में महत्वपूर्ण योगदान दिया। इससे पहले मैच में, श्रीलंकाई गेंदबाज डुनिथ वेलालेज और चैरिथ असलांका भारत के शीर्ष क्रम के बल्लेबाजों को ध्वस्त करने में कामयाब रहे, और उन्हें कुल 213 रनों तक सीमित कर दिया। विशेष रूप से, वेललेज ने अपना पहला 5 विकेट हासिल करके एक उल्लेखनीय उपलब्धि हासिल की। उनके उत्कृष्ट प्रदर्शन में रोहित शर्मा, शुबमन गिल, विराट कोहली, केएल राहुल और हार्दिक पंड्या जैसे शीर्ष भारतीय बल्लेबाजों के बेशकीमती विकेट शामिल थे।

इस मैच में रवींद्र जड़ेजा की उपलब्धि और भारत के सामूहिक प्रदर्शन ने निस्संदेह एशिया कप में क्रिकेट के समृद्ध इतिहास में एक रोमांचक अध्याय जोड़ दिया है।

Cricket Live Updates: क्रिकेट लाइव अपडेट….

About Ravindra Jadeja(रवीन्द्र जड़ेजा के बारे में):

[Source: Naarad TV]Ravindra Jadeja became the most successful bowler for India in Asia Cup history
गुणजानकारी
नामरवीन्द्र जड़ेजा
जन्म06 दिसम्बर 1988
 नवगाम-खेड, सौराष्ट्र
आयु34 साल 281 दिन
टीमेंभारत, भारत U19, राजस्थान रॉयल्स, सौराष्ट्र, बोर्ड प्रेसिडेंट XI, कोच्चि टस्कर्स केरल, चेन्नई सुपर किंग्स, इंडिया बी, इंडियंस, इंडिया ए, गुजरात लायंस, इंडिया ब्लू, शेष भारत
उपनामजडेजा
बेटिंग स्टाइलबाएं हाथ के बल्लेबाज
बॉलिंग स्टाइलबाएं हाथ का गेंदबाज
Ravindra Jadeja became the most successful bowler for India in Asia Cup history

बेटिंग StatisticsTestODIT20IIPL
Mat6718164226
Inn9812334173
Runs280425784572692
Avg36.4232.2324.0526.39
SR57.0584.28124.52128.62
HS175874662
NO21431571
100s3000
50s191302
4s28318834193
6s58501299
एशिया कप इतिहास में भारत के लिए सबसे सफल गेंदबाज बने रवींद्र जड़ेजा

बॉलिंग StatisticsTestODIT20IIPL
Mat6718164226
Inn12817462197
Balls16354897712373547
Runs6620733114534495
Wkt27519951152
BBI42/736/515/316/3
BBM110/1036/515/316/3
Eco2.434.97.057.6
Avg24.0736.8428.4929.57
5W12101
10W2000
एशिया कप इतिहास में भारत के लिए सबसे सफल गेंदबाज बने रवींद्र जड़ेजा

Cricket Live Updates: क्रिकेट लाइव अपडेट….

Profile of Ravindra Jadeja(रवीन्द्र जड़ेजा की प्रोफाइल):

‘सर’ के नाम से मशहूर रवीन्द्र जड़ेजा ने एक ऐसा क्रिकेट करियर बनाया है जो सामान्य से परे, मिथकों और किंवदंतियों से घिरा हुआ है। ‘सर’ उपनाम शुरू में एक मजाक के रूप में उभरा था, लेकिन सौराष्ट्र के इस युवा ने आलोचना और उपहास से बेफिक्र होकर एक उल्लेखनीय बदलाव की योजना बनाई। उनकी यात्रा की शुरुआत 2009 टी20 विश्व कप में खराब प्रदर्शन के साथ हुई, जहां वह उपहास का पात्र बन गए, खासकर उत्साही भारतीय क्रिकेट प्रशंसकों ने, जो उनके निष्कासन की मांग कर रहे थे। उथल-पुथल के बीच, उनके दृढ़ समर्थक, कप्तान एमएस धोनी, उभरते हुए ऑलराउंडर में अपने विश्वास की पुष्टि करते हुए, उनके साथ मजबूती से खड़े रहे।

इसके बाद, शांत सीज़न आए, जिसके दौरान जडेजा ने घरेलू क्रिकेट में अपने कौशल को परिश्रमपूर्वक निखारा। हालाँकि शुरुआत में उन्हें एक बहुमुखी ऑलराउंडर के रूप में माना जाता था, लेकिन उनकी असली क्षमता एक गेंदबाज के रूप में उभरी, जो कि हिटिंग स्पॉट में अचूक सटीकता से पहचानी गई। प्रथम श्रेणी क्रिकेट में तीन तिहरे शतकों सहित बल्ले के साथ उनके कौशल ने उनकी बहुमुखी प्रतिभा को मजबूत किया। हालाँकि, इंग्लैंड के 2012-13 के भारत दौरे के दौरान उनके टेस्ट डेब्यू ने नाटकीय रूप से उनकी किस्मत बदल दी। मुख्य स्पिनर रविचंद्रन अश्विन के साथ जड़ेजा के उल्लेखनीय प्रदर्शन के कारण ऑस्ट्रेलियाई टीम का ऐतिहासिक सफाया हुआ।

[Source: Sport Edge Cricket] Ravindra Jadeja became the most successful bowler for India in Asia Cup history

उसी वर्ष भारत की चैंपियंस ट्रॉफी जीत में उनका असाधारण प्रदर्शन देखा गया, जिससे उन्हें पूरे टूर्नामेंट में अपनी असाधारण गेंदबाजी के लिए गोल्डन बॉल मिली। इससे अंतर्राष्ट्रीय मंच पर जड़ेजा के आगमन की जोरदार घोषणा हुई। तब से, वह आगे बढ़े हैं और टेस्ट क्रिकेट में, विशेषकर उपमहाद्वीपीय परिस्थितियों में, खुद को एक मजबूत ताकत के रूप में स्थापित किया है। अश्विन के साथ उनकी साझेदारी ने कई विपक्षी बल्लेबाजी क्रम को ध्वस्त कर दिया है, जिससे दुनिया की प्रमुख स्पिन जोड़ी के रूप में उनकी स्थिति मजबूत हो गई है।

Cricket Live Updates: क्रिकेट लाइव अपडेट….

जबकि चोटों ने अस्थायी रूप से सीमित ओवरों के प्रारूप में उनके प्रदर्शन में बाधा डाली, 2015 विश्व कप के बाद बदलते नियमों ने उन्हें सफेद गेंद क्रिकेट में कम प्रभावी बना दिया। अश्विन को भी इसी तरह की चुनौतियों का सामना करना पड़ा, जिसके कारण 2017 चैंपियंस ट्रॉफी के बाद उन्हें सीमित ओवरों की टीम से बाहर कर दिया गया। हालाँकि भारत इस प्रतियोगिता के फाइनल में पहुँच गया, लेकिन अश्विन-जडेजा की महान साझेदारी सफेद गेंद वाले क्रिकेट में मायावी लग रही थी। कलाई के स्पिनरों के आगमन ने और चुनौतियां खड़ी कर दीं, लेकिन जडेजा के विविध कौशल सेट और सर्वोच्च फिटनेस ने उन्हें राष्ट्रीय चयन के लिए दावेदार बनाए रखा।

उन्होंने 2018 एशिया कप के दौरान एकदिवसीय टीम में वापसी की, जिसमें रुक-रुक कर गिरावट के बावजूद पर्याप्त संख्या में खेलों में भाग लिया। जड़ेजा की हरफनमौला क्षमता, मैदान में जीवंतता, एक विश्वसनीय स्पिनर और अंतिम क्रम के बल्लेबाज ने उन्हें कप्तानों के लिए एक आकर्षक विकल्प बना दिया। 2018-19 सीज़न में हार्दिक पंड्या की बार-बार लगी चोटों ने जडेजा को सफेद गेंद वाले क्रिकेट में एक नया मौका दिया, जिससे टीम में उनकी जगह पक्की हो गई।

टेस्ट क्रिकेट में, उनकी बल्लेबाजी क्षमता पिछले कुछ वर्षों में नई ऊंचाइयों पर पहुंच गई है, जिससे उन्हें खेल की परिस्थितियों की परवाह किए बिना एक भरोसेमंद बल्लेबाज के रूप में स्थापित किया गया है।

Cricket Live Updates: क्रिकेट लाइव अपडेट….

IPL Journey(आईपीएल यात्रा):

जड़ेजा के उत्थान का श्रेय एमएस धोनी के अटूट समर्थन को जाता है, लेकिन शुरुआत में उन्हें आईपीएल में ही देखा गया था, खासकर महान शेन वार्न ने। राजस्थान रॉयल्स के कप्तान के रूप में, वार्न ने जडेजा की क्षमता को पहचाना और 2008-09 में उन्हें ‘रॉकस्टार’ करार दिया, एक भविष्यवाणी जो उल्लेखनीय रूप से सटीक साबित हुई। राजस्थान के साथ एक संक्षिप्त कार्यकाल के बाद, 2015 सीज़न के बाद टीम के निलंबन तक, जडेजा चेन्नई सुपर किंग्स (सीएसके) लाइनअप में एक महत्वपूर्ण व्यक्ति बन गए। सीएसके के अंतराल के दौरान, उन्होंने थोड़े समय के लिए खुद को अपनी मूल गुजरात फ्रेंचाइजी में पाया। हालाँकि, 2018 सीज़न में सीएसके की वापसी पर, जडेजा को तीन प्रमुख खिलाड़ियों में से एक के रूप में बरकरार रखा गया था, जो टीम के लिए उनके अत्यधिक महत्व का प्रमाण है।

2021 आईपीएल में उनके असाधारण प्रदर्शन, 227 रन बनाने और 13 विकेट लेने ने उन्हें 2022 मेगा नीलामी से पहले एक मांग वाला खिलाड़ी बना दिया। सीएसके ने 16 करोड़ रुपये में उनकी सेवाएं हासिल कीं और उन्हें कप्तान नियुक्त किया। हालाँकि, शुरुआती आठ मैचों में सिर्फ दो जीत के साथ चुनौतीपूर्ण शुरुआत के बाद, जडेजा ने एमएस धोनी को कप्तानी छोड़ दी, जिससे उन्हें अपने खेल पर ध्यान केंद्रित करने का मौका मिला। दुर्भाग्य से, पसली की चोट के कारण उन्हें बाहर कर दिया गया था, लेकिन फ्रैंचाइज़ी के साथ चर्चा के बाद 2023 सीज़न के लिए वापस आ गए, जिससे दरार की अफवाहें दूर हो गईं।

Cricket Live Updates: क्रिकेट लाइव अपडेट….

FAQs

  1. कौन हैं रवींद्र जड़ेजा?

    रवीन्द्र जड़ेजा एक भारतीय क्रिकेटर हैं जो बल्लेबाजी और गेंदबाजी दोनों में अपनी हरफनमौला क्षमताओं के लिए जाने जाते हैं। उनका जन्म 06 दिसंबर 1988 को नवागाम-खेड, सौराष्ट्र में हुआ था।

  2. रवीन्द्र जड़ेजा का उपनाम क्या है?

    क्रिकेट की दुनिया में रवीन्द्र जड़ेजा को अक्सर ‘सर’ उपनाम से बुलाया जाता है।

  3. रवीन्द्र जड़ेजा ने अपने क्रिकेट करियर में किन टीमों के लिए खेला है?

    रवींद्र जडेजा ने भारत, भारत U19, राजस्थान रॉयल्स, सौराष्ट्र, बोर्ड प्रेसिडेंट XI, कोच्चि टस्कर्स केरल, चेन्नई सुपर किंग्स, इंडिया बी, इंडियंस, इंडिया ए, गुजरात लायंस, इंडिया ब्लू और शेष भारत सहित विभिन्न टीमों का प्रतिनिधित्व किया है।

  4. रवीन्द्र जड़ेजा की बल्लेबाजी शैली क्या है?

    रवीन्द्र जड़ेजा बाएं हाथ के बल्लेबाज हैं।

  5. रवीन्द्र जड़ेजा की गेंदबाजी शैली क्या है?

    रवीन्द्र जड़ेजा बाएं हाथ के ऑर्थोडॉक्स स्पिनर हैं।

  6. क्या रवींद्र जडेजा ने अपने क्रिकेट करियर में कोई महत्वपूर्ण उपलब्धि हासिल की है?

    हां, रवींद्र जडेजा ने कई उपलब्धियां हासिल की हैं, जिनमें प्रथम श्रेणी क्रिकेट में तीन तिहरे शतक और 2013 में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ भारत के ऐतिहासिक सफाए में प्रमुख खिलाड़ी होना शामिल है।

  7. क्या रवीन्द्र जड़ेजा को कोई पुरस्कार या मान्यता मिली है?

    हां, भारत की चैंपियंस ट्रॉफी खिताब जीत के दौरान उनके उत्कृष्ट गेंदबाजी प्रदर्शन के लिए उन्हें गोल्डन बॉल से सम्मानित किया गया था।

Trending Post:

Read More Post: Click Here(अधिक पोस्ट पड़ने केलिए यहाँ क्लिक करे)
“मैं विभिन्न विषयों पर लिखता हूँ, लेकिन मेरी लेखन की अंगड़ाई और विविधता हमेशा है। मैं अपने पाठकों को विचारशीलता से भरपूर मनोरंजन प्रदान करने और उन्हें अपनी जीवन के प्रत्येक पहलू को देखने के लिए प्रोत्साहित करने का प्रयास करता हूँ।”

Share on

Leave a comment